क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी एक मुक्त व्यापार समझौता है| इसमें एशिया प्रशांत क्षेत्र के16 देश शामिल है| इस की औपचारिक शुरुआत नवंबर 2012 में कंबोडिया में आसियान शिखर सम्मेलन में की गई थी|

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी

इसका उद्देश्य व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के लिए सदस्य देशों के बीच व्यापार नियमों को उदार एवं  सरल बनाना है| भारत वार्ता को बढ़ाना चाहता है परंतु भारत का पक्ष है कि लाभ को समान रुप से साझा करने के लिए आवश्यक है की समझौता सभी देशों के बीच संतुलितरूप से हो| मुक्त व्यापार समझौते के कारण पूर्वी एशिया क्षेत्र के देशों के बीच मजबूत व्यापारिक एवं आर्थिक संबंध है|

दक्षिण पूर्वी एशियाई देशों के संगठन आसियान का 6 देशों के साथ मुक्त व्यापार समझौता है| यह देश है: दक्षिण कोरिया, जापान, भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड| देशों ने अपने व्यवसाय को और अधिक व्यापक करने तथा इस क्षेत्र के आर्थिक विकास में सदस्यों के योगदान को बढ़ाने के लिए इन 16 भागीदार देशों ने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी  की संकल्पना रखें|अर्थात RCEP आशियान और इसके मुक्त व्यापार समझौता सदस्यों के मध्य साझेदारी का प्लेटफार्म है|

प्रिय विजिटर इस तरह आपने क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी के बारे में संक्षेप में जाना| इससे संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव हो तो कमेंट जरुर करें| आशा है की हमारे अन्य आर्टिकल की तरह ही आप इस आर्टिकल से भी लाभान्वित होंगे| हम इस बात को महसूस कर रहे है की आपके और बेहतर सुविधा के लिए इस साईट में कई सुधार किया जाना अपेक्षित है| आप सरीखे विजिटर के स्नेह और सुझाव से हम इस साईट में निरंतर सुधार कर रहे है और हमें विश्वास है की आगे के समयों में हम आपको और भी बेहतर सुविधा दे पाएंगें| लेकिन इस हेतु आपसे अनुरोध है की आप हमारे कांटेक्ट अस पेज के माध्यम से अपना विचार एवं अपना बहुमूल्य सुझाव हम तक जरुर प्रेषित करें| इस आर्टिकल को पढ़ने तथा अवेयर माय इंडिया साईट पर विजिट करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|

यह भी पढ़ें

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.