जेड प्लस सिक्योरिटी किसे मिलता है

हमें अक्सर एक्स, वाई, जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी की चर्चा सुनने को मिलती है| यह अति महत्वपूर्ण व्यक्तियों को प्रदान किया जाने वाला महत्वपूर्ण सुरक्षा है| कहा जाता है सुरक्षा के ये प्रकार सबसे उत्तम श्रेणी के है तथा इस सुरक्षा के बीच से परिंदा भी पर नहीं मर सकता| हम इस पोस्ट में इन्ही मुद्दों पर चर्चा करेंगे| हम देखेंगे की एक्स, वाई, जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी क्या है? यह सुरक्षा किसे मिलता है और कौन प्रदान करता है, इन सुरक्षा के मानक और आधार क्या है? इसी दरम्यान हम यह भी चर्चा करेंगे की 2018 में किन किन महत्वपूर्ण व्यक्तियों को जेड प्लस सिक्योरिटी दिया गया है यानी की जेड प्लस सुरक्षा व्यक्तियों भारत 2018 में सूची को भी हम देखेंगे|  आइये चर्चा की शुरुआत करते है|

जब मैं हाई स्कूल में था उस समय, हमारे शहर में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष  श्री सोनिया गाँधी का आगमन हुआ था| उस वक्त मैंने थोड़ा-बहुत उनके सिक्योरिटी को देखा था, तब मुझे एक्स, वाई, जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी की समझ नहीं थी, इसलिए मैंने सिर्फ उनके सिक्योरिटी ठाठ-बाट को ही देखा था| बाद में सिविल सेवा की तैयारी के दौरान एक रोज शिक्षक द्वारा सभी प्रकार के सिक्योरिटी, उनके प्रकार, उनमें क्या-क्या विभिन्नता और विशेषताएं हैं को जानने का मौका मिला| यकीनन उसे सुनना और समझना ही, बहुत रोमांचकारी था, उसकी अनुभूति ही कुछ अलग थी|  शायद आप में से बहुत से लोग जो अभी इन सिक्योरिटी के बारे में पढेंगे वे भी कुछ मेरी तरह अनुभव करेंगे|

एक्स, वाई, जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी

जब बात सुरक्षा की होती है तो कौन उसे नकार सकता है| हमारे समाज में, सुरक्षा में लगे जवानों की संख्या और ठाठ-बाठ को उस व्यक्ति के औकात और पहुंच से जोड़कर देखा जाता है| कोई कितना भी बड़ा व्यक्तित्व क्यों ना हो या कितने भी बड़े पद पर क्यों ना हो अथवा कितना भी बड़ा नेता क्यों ना हो अगर उसके साथ दल-बल, सुरक्षाकर्मियों की भीड़ नहीं है तो हमारा मन उस शख्स को बड़ा मानने से इंकार करता है

   वहीं दूसरी ओर अगर किसी व्यक्ति के साथ सशस्त्र सुरक्षा कर्मियों की भीड़ है, जिससे लोग बहुत दूर से ही उनका दीदार कर सके, वैसे व्यक्तित्व के प्रति लंबे समय तक मन श्रद्धान्वित रहता है|  लेकिन यथार्थ में इसमें कोई सच्चाई नहीं हैदरअसल विभिन्न सुरक्षा केटेगरी को  सुरक्षा के खतरे को देखते हुए प्रदान किया जाता है| सुरक्षा केटेगरी किस तरह की है, कितने सुरक्षाकर्मी सुरक्षा में  लगे हैं, इससे व्यक्तित्व और पद का मूल्यांकन नहीं होता हैयह अलग बात है कि गणमान्य और ऊंचे पद वाले लोगों को हमेशा जान का खतरा बना रहता है तथा हमारे भारतीय संविधान की आत्मा के अनुसार अगर कोई व्यक्ति देश की सेवा करते हुए अपने कर्तव्य पर निरत है तो उसकी सुरक्षा भी  राष्ट्र का कर्तव्य है, के मद्देनजर व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान की जाती है| हमारे नेताओं की सुरक्षा, वरिष्ठ अधिकारियों की सुरक्षा, अन्य महत्वपूर्ण व्यक्तियों की सुरक्षाकर्मी इसी के तहत प्रदान की जाती है|

सुरक्षा के मुख्य प्रकार


विभिन्न मंत्री, अधिकारी आदि  को प्राप्त होने वाले सुरक्षा से इतर अति महत्वपूर्ण व्यक्तियों के लिए प्रदान की जाने वाली सुरक्षा के 4 विशेष कैटोगरी  क्रमशः जेड प्लस सिक्योरिटी, जेड सिक्योरिटी, वॉइ सिक्योरिटी, एक्स सिक्योरिटी है| उचित परिस्थिति अनुसार विभिन्न अति महत्वपूर्ण व्यक्ति-VIP को यह सुरक्षा प्रदान की जाती है| इस तरह मुख्य रूप से चार प्रकार के सुरक्षा कैटेगरी हैं| इस कैटेगरी का मुख्य आधार सुरक्षा में लगने वाले सुरक्षाकर्मियों की संख्या तथा उसी के आधार पर सुरक्षा के मानक तथा सुरक्षा की गुणवत्ता है|  हम यहां एक एक कर सभी चारों कैटेगरी की चर्चा करके उसे समझने का प्रयास करेंगे| लेकिन पहलें हम यह समझने का प्रयास करते है की इन सुरक्षा को प्रदान करने का आधार क्या है?

सुरक्षा प्रदान करने का आधार

सामान्य तौर पर जब किसी महत्वपूर्ण व्यक्ति को यह लगता है कि उसे सुरक्षा संबंधित जान का खतरा है तो वह भारत सरकार के पास इन विशेष कैटेगरी की सुरक्षा उपलब्ध कराने के लिए आवेदन करते है| भारत सरकार तथा भारत सरकार की खुफिया एजेंसी रॉ इस दावे की जांच करती है| दावा सही पाए जाने पर उस व्यक्ति को संभावित खतरे के अनुसार चारों कैटोगरी में से एक प्रकार की सुरक्षा मुहैया कराई जाती है| फिलहाल लगभग  450 वीवीआईपी को इस तरह की सुरक्षा प्राप्त है|

जेड प्लस सिक्योरिटी- जेड प्लस सुरक्षा

सभी प्रकार की सुरक्षा मानकों में इसे सबसे मजबूत और सुरक्षित माना जाता है|  ऐसा माना जाता है कि जेड प्लस सुरक्षा के बीच परिंदा भी पर नहीं मार सकता|  इस तरह की सुरक्षा अति महत्वपूर्ण और सुरक्षा की दृष्टि से अति संवेदनशील व्यक्ति को प्रदान किया जाता है| वर्तमान में भारत के कुल 13 व्यक्ति को जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है| किन-किन व्यक्तियों को जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त है इसकी सूची इसी पोस्ट में आगे दी गई है| आइये पहले देखते है की जेड प्लस सुरक्षा के मानकक्या है. यानी की इस सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति को किस तरह के सुरक्षा कवज से घेर कर रखा जाता है|

जेड प्लस सुरक्षा के मानक

  • जेड प्लस सुरक्षा में सुरक्षाकर्मियों की संख्या 36 होती है| इनमें 10 एनएसजी कमांडो और एसपीजी कमांडो होते हैं| यह कहने की आवश्यकता नहीं है कि ये कमांडो अति प्रशिक्षित और बिना हथियार के भी हथियारबंद दुश्मनों पर भारी होते हैं| इन कमांडो के अतिरिक्त इस दल में पुलिस, CRPF और आईटीबीपी के चुनिंदा जवानों भी सम्मिलित होते हैं|
  • जेड प्लस सुरक्षा कई लेयर के अनुसार होती है| पहला लेयर या घेरा NSG के कमांडो की जिम्मेदारी में होती है जबकि दूसरा लेयर एसपीजी के अधिकारियों की निगरानी में होता है| इसके बाद अन्य लेयर में अन्य सुरक्षा कर्मी वीवीआईपी को घेरे रहते हैं|
  • जेड प्लस सुरक्षा में 36 सुरक्षाकर्मी सुरक्षा प्राप्तकर्ता वीवीआईपी परसन को अंग्रेजी अक्षर Z’ के रणनीति के तहत सुरक्षा घेरे में रखे रहते हैं| किसी भी तरह की खतरे की स्थिति में हमला करने के साथ ही सुरक्षाकर्मी VIP को सुरक्षित स्थान तक पहुंचा देते हैं|
  • साधारण शब्दों में अगर कहे तो जेड प्लस सुरक्षा आधुनिक सभी सुरक्षामानकों से सबसे अधिक सुरक्षित है और इसमें पर्सन की सुरक्षा की लगभग शत प्रतिशत  गारंटी होती है|

जेड प्लस सुरक्षा व्यक्तियों भारत 2018 में सूची

जेड तथा जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त व्यक्तियों की सूची में परिवर्तन होता रहता है| उदाहरण के लिए अभी कुछ समय पहलें तक 14 महत्वपूर्ण व्यक्ति को यह सुरक्षा प्राप्त थी लेकिन 7 अगस्त 2018 में माननीय एम करुणानिधि के दिवंगत होने से जेड प्लस सुरक्षा प्राप्त व्यक्तियों की सूची में मात्र 13 लोग है| यद्यपि इस सूची में परिवर्तन होता रहता है लेकिन इसके बारे में मोटे तौर पर एक नजरिया विकसित की जा सकती है| आइये जेड प्लस सुरक्षा व्यक्तियों भारत 2018 में सूची देखते है|

जेड प्लस सुरक्षा व्यक्तियों भारत 2018 में सूची – 13 व्यक्ति

  1. नीतीश कुमार– मुख्यमंत्री बिहार
  2. मुलायम सिंह– पूर्व मुख्यमंत्री
  3. मायावती– पूर्व मुख्यमंत्री
  4. अखिलेश यादव– पूर्व मुख्यमंत्री
  5. चन्द्रप्रभु नायडू– मुख्यमंत्री आन्ध्र प्रदेश
  6. फारुख अब्दुल्लाह– पूर्व मुख्यमंत्री
  7. उमर अब्दुल्लाह– पूर्व मुख्यमंत्री
  8. तरुण गोगाई– मुख्यमंत्री असम
  9. ओम प्रकाश बादल– मुख्यमंत्री पंजाब
  10. लाल कृष्ण आडवानी
  11. राजनाथ सिंह– गृहमंत्री भारत सरकार
  12. गुलाम नबी आजाद– राज्य सभा के विपक्ष के नेता
  13. आदित्यनाथ योगी– मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश

मुझे यह चर्चा करना आवश्यक प्रतीत हो रहा है की इन 13 व्यक्तियों के अलावे कुछ ऐसे महत्वपूर्ण व्यक्ति है जिन्हें एसपीजी और एनएसजी कमांडो सुरक्षा प्रदान करते है इनमें निम्न व्यक्ति आते है- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी, पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह, अटल बिहारी वाजपेई, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेकैंया नायडू तथा गाँधी परिवार के सदस्य जैसे सोनिया गाँधी, राहुल गाँधी, प्रियंका आदि|

जेड सिक्योरिटी- जेड सुरक्षा


जेड प्लस सिक्योरिटी के बाद जेड सिक्योरिटी का स्थान आता है| इस सुरक्षा कैटेगरी को भी सुरक्षा के लिहाज से  बेहतर माना जाता है| वर्तमान में भारत के विभिन्न अति महत्वपूर्ण व्यक्ति को जेड सिक्योरिटी  प्राप्त हैइस सुरक्षा में 22 सदस्यीय सुरक्षाकर्मी वीवीआईपी परसन को अंग्रेजी अक्षरZके रणनीति के तहत सुरक्षा प्रदान करने के लिए घेरे रहते है| 22 सुरक्षाकर्मी सदस्यों में से  5 एनएसजी कमांडो होते हैं तथा अन्य दिल्ली पुलिस, ITBP, CRPF के चुनिंदा जवान होते हैं| जेड सिक्योरिटी के बारे में भी यह माना जाता है कि इस सुरक्षा में भी व्यक्ति को नुकसान पहुंचा पाना लगभग असंभव है|

वाई सिक्योरिटी- वाई सुरक्षा


सुरक्षा मानको में इसे तीसरा स्थान प्राप्त है तथा वर्तमान में भारत के विभिन्न महत्वपूर्ण और सुरक्षा की दृष्टि से सम्वेदनशील व्यक्ति को यह सुरक्षा प्रदान की गई है| वाई सुरक्षा में 11 सदस्यीय सुरक्षाकर्मी, जिसमें दो एनएसजी कमांडो तथा अन्य CRPF, ITBP, पुलिस बल के चुनिंदा सदस्य होते हैं, वीवीआईपी की सुरक्षा में तैनात होते हैं| सुरक्षा के लिहाज से इसे भी महारत हासिल है| इस सुरक्षा में किसी व्यक्ति को नुकसान पहुंचा पाना बहुत अधिक मुश्किल है|

एक्स सिक्योरिटी-एक्स सुरक्षा


एक्स सुरक्षा को महत्वपूर्ण सुरक्षा केटेगरी के बीच चौथा स्थान प्राप्त है| वर्तमान में भारत के विभिन्न VIP व्यक्ति को यह सुरक्षा प्राप्त है| इस सुरक्षा में 2 या 5 सुरक्षाकर्मी तैनात किए जाते हैं जिसमें एक या दो Commando होते हैं| X सुरक्षा के बीच किसी भी VIP को नुकसान पहुंचा पाना खासा मुश्किल है|
यहाँ हम इस बात को फिर से बताना चाहेंगे की सुरक्षा के कैटेगरी जैसे जेड प्लस सिक्योरिटी, जेड सिक्योरिटी, वाई सिक्योरिटी, एक्स सिक्योरिटी से किसी पर्सन के कम या अधिक महत्वपूर्ण होने का अनुमान नहीं लगाया जा सकता है| सुरक्षा या जान के खतरे के अंदेशानुसार किसी भी VIP को विभिन्न कैटेगरी की सुरक्षा प्रदान की जाती है|

प्रिय विजिटर इस तरह आपने अवेयर माय इंडिया के हिंदी आर्टिकल ‘जेड प्लस सिक्योरिटी किसे मिलता है एक्स, वाई, जेड और जेड प्लस सिक्योरिटी हिंदी में’ को पढ़ा| अगर आपका इससे संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव हो तो कमेंट जरुर करें| आशा है की हमारे अन्य आर्टिकल की तरह ही आप इस आर्टिकल से भी लाभान्वित होंगे| हम इस बात को महसूस कर रहे है की आपके और बेहतर सुविधा के लिए इस साईट में कई सुधार किया जाना अपेक्षित है| आप सरीखे विजिटर के स्नेह और सुझाव से हम इस साईट में निरंतर सुधार कर रहे है और हमें विश्वास है की आगे के समयों में हम आपको और भी बेहतर सुविधा दे पाएंगें| लेकिन इस हेतु आपसे अनुरोध है की आप हमारे कांटेक्ट अस पेज के माध्यम से अपना विचार एवं अपना बहुमूल्य सुझाव हम तक जरुर प्रेषित करें| इस आर्टिकल को पढ़ने तथा अवेयर माय इंडिया साईट पर विजिट करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|

Leave a Reply

Your email address will not be published.