टमाटर

150-200 वर्ष पहलें टमाटर को एक विषैली सब्जी समझा जाता था, लेकिन आज इसका उपयोग अनेक रूप में किया जाता है| इसे देखते ही खाने में रुचि बढ़ जाती है कच्चे सलाद के रूप में, उबालकर सूप के रूप में, पकाकर सब्जी के रूप में, चटनी, सूप, केचप, सॉस आदि के रूप में प्रत्येक सब्जी-भाजी में किसी न किसी रूप में टमाटर का उपयोग किया जाता है| यह खाने में जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही यह स्वास्थ्यवर्धक भी होता है| टमाटर सोलेनेसी कुल का पौधा है| इस का  बॉटनिकल नेम (वानस्पतिक नाम) लाइकोपर्सिकोन एसक्यूलेंटस है| हम आज इस पोस्ट में इसको लेकर तमाम प्रश्नों और बातों पर चर्चा और परिचर्चा करेंगे जैसे टमाटर में कौन सा अम्ल और विटामिन पाया जाता है? टमाटर के गुण क्या है और टमाटर के फायदे क्या है? टमाटर के फायदे स्किन के लिए क्या है? टमाटर के उपयोग में क्या सावधानियां रखनी चाहिए? किसे टमाटर नहीं खाना चाहिए? आइये चर्चा प्रारम्भ करते है..

टमाटर

यह मधुर, तासीर में ठंडा, रुचिकारक, भूख को बढाने वाला, रक्तशोधक, रक्त की कमी को दूर करने वाला, कब्जनाशक, उदर रोगों को नष्ट करने वाला, कमजोरी को दूर करने वाला, पाचक, कृमिनाशक, खट्टी डकारें, मुहं में छालें, मसूड़ों में दर्द तथा मधुमेह में बड़ा लाभकारी और गुणकारी होता है| इसके क्षार तत्व के कारण ही शरीर में रोगरोधक क्षमता बनी रहती है|

टमाटर में कौन सा अम्ल और विटामिन पाया जाता है


 पौष्टिकता की दृष्टि से इसमें में जीवन को दीर्घायु एवं स्वस्थ बनाए रखने वाले सभी पोषक तत्व पाए जाते हैं| इसमें विटामिन , बी, और सी के अतिरिक्त खनिज लवण जैसे कैल्शियम फास्फोरस, पोटेशियम और लौह तत्व आदि प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं| इसके छिलके तथा छिलके के पास के गूदे में विटामिन ए बहुत अधिक मिलता है| टमाटर में साइट्रिक अम्ल प्रचुर मात्रा में पाया जाता है| 100 ग्राम टमाटर के सेवन से लगभग 22 किलो कैलोरी ऊर्जा प्राप्त होती है|
   फलों एवं सब्जियों की अपेक्षा इसमें कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है| कैल्शियम हड्डियों के लिए अत्यंत आवश्यक है इसके अलावा दांतो के मजबूत सेहत के लिए आवश्यक है इस अर्थ में यह हड्डियों और दांतों के लिए लाभकारी है| इसमें लोहा यानी की आयरन भी  प्रचुर मात्रा में  मिलता है| अगर हम अंडे से तुलना करें तो अंडे की अपेक्षा इसमें 5 गुना अधिक लोहा होता है अतः महिलाओं के लिए यह आवश्यक हो जाता है कि वह रोज इसका सेवन करें|
    अनेक विशेषताओं के साथ ही इसमे एक विशेषता यह भी नायाब है की इसे पकाने से इसके पोषक तत्व नष्ट नहीं होते हैं| यानी कि इसे कच्चे खाया जाए या पका हुआ दोनों ही रूप में इसके लाभों को प्राप्त किया जा सकता है|

टमाटर के गुण क्या है और टमाटर के फायदे क्या है


टमाटर में उपस्थित खट्टापन साइट्रिक अम्ल के कारण होता है साइट्रिक अम्ल नींबू और  संतरा में भी पाया जाता हैमानव शरीर में यह आसानी से पच जाता है इसीलिए शारीरिक कमजोरी से ग्रस्त लोगों को टमाटर खाना बहुत लाभदायक होता है |
   इसमें में विटामिन ए की प्रचुर मात्रा पाई जाती है| विटामिन ए की कमी से रतौंधी अथवा अल्प दृष्टि रोग  होता है| इस समस्या से ग्रसित व्यक्ति के लिए यह अत्यंत लाभकारी है| प्रतिदिन 2-3 लाल टमाटर खाने से शरीर के विटामिन की आवश्यकता पूरी हो जाती है और नेत्र संबंधी रोग तथा विटामिन की कमी से होने वाले रोग के होने की संभावना नगण्य हो जाती है|
    इसमें विटामिन सी की भी प्रचुर मात्रा पाई जाती है| इसके नियमित सेवन से विटामिन सी की कमी से होने वाले रोग नहीं होते हैं| विटामिन सी की कमी से अनेक प्रकार के रोग होते हैं इन रोगों में स्कर्वी रोग प्रमुख है| स्कर्वी रोग में रोगी कमजोर और चिड़चिड़ा हो जाता है, उसके मसूड़ों से खून आने लगता है तथा शरीर में खून की कमी हो जाती है|
     मुंह के छालों की समस्या में यह हितकारी है| इसके रस में ताजा पानी मिलाकर कुल्ला करने से मुंह और जीभ के छाले दूर हो जाते हैं| जिन्हें बार बार छाले होते हैं उन लोगों को इसका अधिक सेवन करना चाहिए| इसके अलावा कैंसर, एनीमिया, रक्त दोष, फेफड़ों के रोग, जोड़ों के दर्द, मधुमेह, सामान्य बुखार, अरूचि,  कब्ज, बार बार प्यास लगना, वमन, आदि रोगों के लिए भी टमाटर लाभकारी है|
      इसे कैंसर से रक्षक कहा जा सकता है| टमाटर में उपलब्ध रसायन लाइकोपीन मानव शरीर में कैंसर फाइटर का काम करता है|टमाटर में  उपस्थित लाइकोपीन टमाटर को लाल रंग प्रदान करता है और लाइकोपीन कैंसर की रोकथाम में अहम भूमिका निभाता है|
      यह बच्चों के लिए अत्यंत गुणकारी है|  इसे बच्चों के लिए संजीवनी का नाम दिया जा सकता है|  इसके सभी गुण जिनकी चर्चा की गई है, प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से बच्चों के लिए भी अत्यंत आवश्यक होते हैं| लेकिन इसके अलावा भी कुछ खास ऐसे गुण हैं जो खास तौर पर बच्चे के विकास के लिए, बच्चों के बीमारियों से दूर रहने के लिए आवश्यक होते हैं|
      बच्चों के सूखा रोग, आंत्रकृमि, मुख के छालो, अनीमिया, में इसका सेवन अत्यंत लाभदायक होता है| इसके सेवन से दांत मजबूत होते है| छोटे बच्चों और शिशु को कैल्शियम की कमी दूर करने के लिए इसका सेवन कराना चाहिए| इसके सेवन करने से बच्चों के दांत बिना किसी परेशानी के निकल आते हैं साथ ही बच्चे की हड्डियाँ भी मजबूत होती है| बच्चे के स्वस्थ जन्म के लिए आवश्यक है की गर्भवती महिलाओं के पोषण का ख्याल रखा जाए| पके, ताजा टमाटरों की नियमित सेवन करने से गर्भवती महिलाओं में रक्त की कमी दूर होती है, शारीरिक शक्ति बढ़ती है और मानसिक तनाव दूर होता है|

टमाटर के फायदे स्किन के लिए क्या है?


टमाटर त्वचा के लिए अत्यंत उपयोगी है| नियमित टमाटर के सेवन से त्वचा को पोषण मिलता है और त्वचा दमकने लगती है| यह शारीरिक सौंदर्य को बढ़ाता है साथ ही शरीर में स्फूर्ति का संचार करता है| त्वचा की खुश्की,  खुजली, तैलीय त्वचा, कील-मुंहासे  होठ फटने की समस्या आदि में भी यह लाभदायक होता है| यह शक्तिवर्धक होता है, प्रातः काल नाश्ते में एक गिलास टमाटर के रस में थोड़ा शहद मिलाकर नियमित सेवन किया जाए तो धीरे-धीरे मुख पर लाली बढती है|  यह कमजोरी दूर करने में सहायक है इसका सूप भूख बढ़ाता है, रक्ताल्पता दूर करता है तथा थकावट व कमजोरी को दूर कर चेहरे पर रौनक लाता है|

टमाटर के उपयोग की सावधानियां


टमाटर के उपयोग में क्या सावधानियां रखनी चाहिए? किसे टमाटर नहीं खाना चाहिए? आइये इन प्रश्नों का उत्तर प्राप्त करें|
  • इसे खाने के बाद पानी नहीं पीना चाहिए टमाटर में एक तेजाबी अंश होता है जो पेट साफ रखता है| इसके सेवन के बाद पानी पीने से यह तेजाबी अंश नष्ट हो जाता है|
  • तेज खांसी में कच्चे इसका सेवन नहीं करना चाहिए इससे खांसी बढ़ सकती है|
  • जिन लोगों को टमाटर के रस पीने में परेशानी होती है, वह इसके रस में समान मात्रा में सेब का रस मिलाकर एक चम्मच शहद डालकर इसका उपयोग कर सकते हैं|
  • टमाटर के अनगिनत  लाभ और गुणों के बावजूद कुछ विशेष स्वास्थ्य स्थिति वाले लोगो को  इससे परहेज करना चाहिए| पथरी, सूजन, संधिवात, आमवात और एसिडिटी के रोगी को टमाटर का सेवन नहीं करना चाहिए|

प्रिय विजिटर इस तरह आपने अवेयर माय इंडिया के हिंदी आर्टिकल ‘टमाटर’ को पढ़ा| अगर आपका इससे संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव हो तो कमेंट जरुर करें| आशा है की हमारे अन्य आर्टिकल की तरह ही आप इस आर्टिकल से भी लाभान्वित होंगे| हम इस बात को महसूस कर रहे है की आपके और बेहतर सुविधा के लिए इस साईट में कई सुधार किया जाना अपेक्षित है| आप सरीखे विजिटर के स्नेह और सुझाव से हम इस साईट में निरंतर सुधार कर रहे है और हमें विश्वास है की आगे के समयों में हम आपको और भी बेहतर सुविधा दे पाएंगें| लेकिन इस हेतु आपसे अनुरोध है की आप हमारे कांटेक्ट अस पेज के माध्यम से अपना विचार एवं अपना बहुमूल्य सुझाव हम तक जरुर प्रेषित करें| इस आर्टिकल को पढ़ने तथा अवेयर माय इंडिया साईट पर विजिट करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|

यह भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published.