भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना या BPO Promotion Scheme की हिंदी में पूरी जानकारी

अभी तक वैश्विक बीपीओ उद्योग में भारत की हिस्सेदारी लगभग 38 फीसदी रही है लेकिन नैसकॉम के अनुमान के अनुसार भारतीय bpo क्षेत्रक की वृद्धि दर में कमी आ रही है| इसकी वृद्धि दर 2014-15 में जहाँ 12% थी अब 2016-17 में 10% हो गई है| अनुमानित वृद्धि दर में कमी आने का कारण प्रौद्योगिकी में हो रही तेजी से परिवर्तन, वीजा और आव्रजन मानदंडों में परिवर्तन, अमेरिका की संरक्षण वादी नीतियाँ, ऑटोमेशन और रोबोटिक्स को माना जा रहा है | इस संदर्भ में भारत सरकार ने बीपीओ तथा आईटी क्षेत्र को प्रोत्साहित करने हेतु डिजिटल इंडिया के अंतर्गत भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना या India BPO Promotion Scheme को चलाया है|

भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना

हम इस पोस्ट में भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना या भारत बीपीओ संवर्धन योजना या India BPO Promotion Scheme के बारे में बात करेंगें| हम समझेंगें की यह योजना क्या है और इसकी विशेषताएँ क्या है ? हम इसके महत्व को भी देखेंगें साथ ही इसी के तर्ज पर बनाये गये पूर्वोतर bpo संवर्धन योजना या East BPO Promotion Scheme की भी बात करेंगे|

यह भी पढ़ें

भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना

हम यहाँ भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना या भारत बीपीओ संवर्धन योजना की पृष्ठभूमि, विशेषताओं आदि पर बात करेंगें | Bharat BPO Protsahan Yojna hindi me Or India BPO Promotion Scheme in hindi.

पृष्ठभूमि


भारत में आईटी क्षेत्र का विकास परम्परागत तौर पर केवल कुछ चुने हुए शहरों तक सीमित रहा है। शहरी इलाकों जैसे दिल्ली-नोएडा-गुरुग्राम, मुंबई-पुणे, हैदराबाद, बेंगलुरु-मैसूर और चेन्नई में अधिकतर आईटी कंपनियों देखने को मिली हैं। 2014 में फैसला किया गया कि भारत के छोटे शहरों में भी आईटी की नौकरियों का प्रसार किया जाएगा। इसका उद्देश्य इन इलाकों में रहने वाले युवाओं के लिए अवसर पैदा करना था, ताकि उन्हें शहरी इलाकों की तरफ पलायन न करना पड़े। इसके परिणामस्वरूप डिजिटल इंडिया के अंतर्गत भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना की शुरुआत हुई।

इस तरह भारत बीपीओ संवर्धन योजना का शुभारम्भ 2014 से हुआ और इसकी समापन की तारीख 31 मार्च 2019 तय किया गया| इस योजना की कार्यान्वयन संस्था सॉफ्टवेर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ़ इंडिया (STPI) को बनाया गया है|

यह भी पढ़ें

विशेषताएँ


  • इस योजना में व्यावहारिकता अंतर निधीयन (वायबिलीटी गैप फंडिंग- परिचालन व्यय के 50% तक की वित्तीय सहायता) के रूप में प्रति सीट एक लाख रुपये तक का विशेष प्रोत्साहन प्रदान किया जाता है।
  • इस योजना के अंतर्गत वित्तीय सहायता का वितरण सीधे तौर पर रोजगार सृजन से जुड़ा हुआ है।
  • इस योजना में महिलाओं और दिव्यांगों को रोजगार देने, शहरों में संचालन, लक्ष्य से अधिक रोजगार सृजित करने और स्थानीय उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रोत्साहन दिया जाता है।
  • इस योजना में हिमालयी राज्यों जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड के लिए विशेष प्रावधान किये गये है।
  • भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 48,300 सीटों को विभिन्न राज्यों की आबादी के अनुपात में वितरण किया गया है |

यह भी पढ़ें

पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना


Purvottar Bpo Protsahan yojna hindi me Or East BPO Promotion Scheme in hindi.

पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना

  • भारत के पूर्वोत्तर क्षेत्र के विकास पर विशेष ध्यान देने की सरकार की योजना के अनुसार भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना की तर्ज पर ही पूर्वोत्तर बीपीओ प्रोत्साहन योजना की भी एक साथ ही शुरुआत की गई।
  • पूर्वोत्तर बीपीओ प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत 5000 सीटों का विभिन्न राज्यों की आबादी के अनुपात में वितरण किया गया है।
  • इस योजना में भी महिलाओं और दिव्यांगों को रोजगार देने और स्थानीय उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए विशेष प्रोत्साहन दिया जाता है।
  • इस योजना के भी अंतर्गत वित्तीय सहायता का वितरण सीधे तौर पर रोजगार सृजन से जुड़ा हुआ है। तथा यह भी 31 मार्च 2019 तक के लिए है|
  • पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना या पूर्वोतर BPO प्रोत्साहन योजना के कार्यान्वयन की एजेंसी stpi ही है|

यह भी पढ़ें

भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना तथा पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना को सरकार का एक मुख्य प्रयास के रूप में देखा जा सकता है | इन योजनाओं के अंदर यह क्षमता है की वह टियर 2 और टियर 3 के शहरो को भी आईटी हब के रूप में परिवर्तित कर सकता है| अभी तक सिर्फ टियर 1 के शहरों में ही आईटी हब हुआ करती है | अभी हालिया में ही रिपोर्ट दर्ज की गई की bpo संवर्धन योजना के द्वारा 11000 लोगों को आईटी क्षेत्र में रोजगार प्राप्त हुआ है यह एक आशा भरा रिपोर्ट है | उल्लासित करने वाली बात यह है की इनमें से 40 % महिलाऐं है |

तो हम कह सकते है की भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना तथा पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना सकारात्मक दिशा में आगे बढ़ रहा है | लेकिन इसमें ध्यान रखने योग्य बात यह है की इस योजना के मुख्य लक्ष्य के रूप में छोटे-छोटे शहरों और क्षेत्रों मे कार्य किया जाना चाहिए|

इस तरह आपने भारत बीपीओ प्रोत्साहन योजना तथा पूर्वोतर BPO संवर्धन योजना के बारे में जाना| अगर आपका इससे संबंधित कोई प्रश्न या सुझाव हो तो कमेंट जरुर करें| आशा है की हमारे अन्य आर्टिकल की तरह ही आप इस आर्टिकल से भी लाभान्वित होंगे| हम इस बात को महसूस कर रहे है की आपके और बेहतर सुविधा के लिए इस साईट में कई सुधार किया जाना अपेक्षित है| आप सरीखे विजिटर के स्नेह और सुझाव से हम इस साईट में निरंतर सुधार कर रहे है और हमें विश्वास है की आगे के समयों में हम आपको और भी बेहतर सुविधा दे पाएंगें| लेकिन इस हेतु आपसे अनुरोध है की आप हमारे कांटेक्ट अस पेज के माध्यम से अपना विचार एवं अपना बहुमूल्य सुझाव हम तक जरुर प्रेषित करें| इस आर्टिकल को पढ़ने तथा अवेयर माय इंडिया साईट पर विजिट करने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद|
यह भी पढ़ें-

Leave a Reply

Your email address will not be published.