विषुवतीय पछुआ पवन की हिंदी में सारगर्भित जानकारी

हम इस छोटे से पोस्ट में विषुवतीय पछुआ पवन Equinoctial wind के बारे में बात करेंगें. हम यह देखेंगे की विषुवतीय पछुआ पवन क्या है? इसकी उत्पत्ति कैसे होती है? यहाँ चक्रवात की दशा क्यों नहीं उत्पन्न होती है? सभी प्रकार के पवनों के बारे में पूरी जानकारी के लिए आप पवनों के प्रकार पोस्ट को पढ़ सकते है vishuvateey pachhua pavan ki hindi me janakri.

विषुवतीय पछुआ पवन


स्थायी पवन के अंतर्गत व्यापारिक पवन उत्तरी गोलार्ध में उत्तर पूर्व से दक्षिण पश्चिम की ओर और दक्षिणी गोलार्ध में दक्षिण पूर्व से उत्तर पश्चिम की ओर होती है. उत्तरी गोलार्ध से आने वाली उत्तर पूर्वी व्यापारिक पवनें (North east merchant wind) और दक्षिणी गोलार्ध से आने वाली दक्षिण पूर्वी व्यापारिक पवनें (South east merchant wind) विषुवतीय प्रदेश में अभिशरण करती है. अर्थात आपस में मिलती है. इसके कारण पश्चिम से पूर्व की ओर एक मंद ढाल के सहारे एक अत्यंत मंद गति की पवन की उत्पत्ति होती है, इसे विषुवतीय पछुआ पवन कहा जाता है.

विषुवतीय पछुआ पवन

विषुवतीय पछुआ पवन की मंद गति के कारण इस क्षेत्र को शांत क्षेत्र या डोलड्रम कहते है. यहाँ पवनों के अभिशरण होने के बाबजूद चक्रवात की दशा उत्पन्न नहीं हो पाती है. यहाँ चक्रवात की दशा उत्पन्न न होने के दो प्रमुख कारण है.

  1. कोरियालिस बल का नगण्य होना – हम यह पूर्व में भी चर्चा कर चुके है की कोरियालिस बल पृथ्वी की घूर्णन के कारण उत्पन्न होती है और यह बल ध्रुवों पर सर्वाधिक और विषुवत रेखा पर नगण्य होती है. विषुवतीय क्षेत्र होने के कारण इस क्षेत्र में चक्रवात की दशा उत्पन्न नहीं हो पाती है.
  2. पवनों का एक समान होना – विदित है की दो विभिन्न प्रकार की पवनों के अभिशरण या मिलने की स्थिति में तथा वहां कोरियालिस बल के प्रभावी होने की स्थिति में चक्रवात की दशा उत्पन्न होती है. उष्ण चक्रवात और शीतोष्ण चक्रवात की उत्पत्ति इन्हीं दशाओं में होती है. इस क्षेत्र में ऐसी स्थिति के न होने पर  चक्रवात की स्थिति उत्पन्न नहीं हो पाती है.

आशा है की आप विषुवतीय पछुआ पवन को समझ पाए होंगे. सभी प्रकार के पवनों के बारे में सरल हिंदी में विस्तारपूर्वक जानने के लिए पवनों के प्रकार पोस्ट को पढ़ें.

hey, अगर यह जानकारी आपको अच्छी लगी हो तो इसे शेयर जरुर करें. अगर इसे समझने में आपको किसी प्रकार की कठिनाई महसूस हो या आप हमें कोई सुझाव देना चाहे तो नीचे कमेंट करे या हमारे कांटेक्ट अस के माध्यम से सम्पर्क करें.

यह भी पढ़ें-

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.