भौगोलिक संकेत या जीआई टैग क्या है?

भौगोलिक संकेत या Geographical Indication

भौगोलिक संकेत या Geographical Indication या गई टैग – GI Tag हमारी समृद्ध संस्कृति और सामूहिक बौद्धिक विरासत का हिस्सा हैं|  यह हमारे किसानों, बुनकरों, दस्तकारों, हस्तशिल्पियों की आय के साधन के साथ ही देश के विकास में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है| हम इस पोस्ट में इसके और इसके सभी पहलुओं के बारे में सरल हिंदी भाषा में विस्तार पूर्वक बात करेंगें| Bhaugolik Sanket or Geographical indication or GI Tag ki samjh hindi me. भौगोलिक संकेत – Geographical…

भारत में किस-किस उत्पाद को भौगोलिक संकेत सूची या GI Tag list में स्थान प्राप्त है?

भौगोलिक संकेत list 2018

भारत में भौगोलिक संकेत रजिस्ट्री विभिन्न उत्पादों को GI TAG प्रदान करती है| भौगोलिक संकेत या  Geographical Indication के बारे में विस्तार पूर्वक चर्चा हम ‘भौगोलिक संकेत क्या है? Geographical Indication की पूरी जानकारी हिंदी में‘ पोस्ट में कर चुके है इसे संबंधित लिंक पर क्लिक कर पढ़ा जा सकता है| हम इस पोस्ट में भारत में भौगोलिक संकेत list में शामिल उत्पाद या GI Tag list को देखेंगें| हम यहाँ Registered या दर्ज हो चुकी आवेदनों की सूची, अस्वीकृत…

बिजली सेक्टर की सभी सुचना एक ही मंच पर उपलब्ध- जारी हुआ एकीकृत पोर्टल- NPP

National Power Portal - NPP

विद्युत मंत्रालय द्वारा नेशनल पॉवर पोर्टल- NPP (हिंदी में राष्ट्रीय ऊर्जा पोर्टल) के नाम से एक एकीकृत वेबसाइट या पोर्टल –  लांच किया गया| इसका विमोचन बिजली मंत्री श्री आर. के. सिंह ने किया| इस वेबसाइट के dashboard पर बिजली से जुड़ी सभी नई पहल और जानकरियां के साथ के साथ ही पूर्व की सभी एप एवं वेबसाइट की भी जानकारी होगी| हम इस पोस्ट में राष्ट्रीय ऊर्जा पोर्टल या National Power Portal के बारे में विस्तार से…

बांस वृक्ष की परिभाषा से बाहर, काटने और बेचने पर नही होगा जेल

बांस वृक्ष की परिभाषा से बाहर

पर्यावरणीय व वैज्ञानिक वर्गीकरण में बांस या bamboo को घास माना जाता है लेकिन भारतीय वन अधिनियम 1927 इसे वृक्ष मानता था| इसे वृक्ष मानते हुए इसे काटने और बेचने पर प्रतिबन्ध भी लागू था| इससे विश्व भर में बांसों का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक होने के बाबजूद भारत बांस का आयात करने को मजबूर था| लेकिन भारतीय वन अधिनियम 1927 में संसोधन करने वाले एक अध्यादेश के द्वारा बांस को अब वृक्ष की श्रेणी से…

विश्व जल दिवस- 22 मार्च

विश्व जल दिवस- 22 मार्च

25 वर्षों से हम जल दिवस मनाते रहे हैं| इस दिवस को मनाने का अर्थ है- जल को लेकर सजग होना, जल को संरक्षित, सुरक्षित रखने को लेकर अवेयर होना| इस वर्ष 2018 में विश्व जल दिवस का थीम है:- नेचर फॉर वाटरअर्थात जल की समस्या का प्रकृति आधारित समाधान| 25 वर्षों से जल दिवस मानते चले आने के बाबजूद वर्तमान में विश्व में 10 में से 4 लोग पानी की किल्लत से प्रभावित है, आज…

विश्व गौरैया दिवस आज

विश्व गौरैया दिवस

आज वर्ल्ड स्पैरो डे है| स्पैरो जी हां वही छोटी सी चिड़िया जो लगभग हम सभी के यादों से जुड़ी हैं| लेकिन अब वह क्यों नहीं दिखती, पहले की तरह हंसती, खेलती, मस्ती करती हुई| आखिर वह क्यों और कहाँ गुम हो गई?  नहीं पता ?  पता भी क्यों हो?   हम तो बुद्धिमान और शक्तिमान हैं, फिर एक नन्ही सी चिड़िया की पड़वाह क्यों करें? आज हम बात कर रहे हैं  गौरैया की| हम में से…

भारत की वनस्पतियाँ

भारत की वनस्पतियाँ

हम इस पोस्ट में भारत की वनस्पतियाँ के बारे में बात करेंगे| दुनिया के सारे काबिल भूगोलवेत्ता यह कहते नही थकते है की भारत का भूगोल अत्यंत समृद्ध है| हम तो भारत की सन्तान है, क्या हमें अपने बारे में पता है? अवेयर माय इंडिया की कांटेक्ट अस में कुछ विजिटर का सन्देश है की आपका ब्लॉग जागरूकता के लिए बनाया गया है तो यह जरूरी है की भारत की स्थिति, नदियाँ, वनस्पतियाँ, जलवायु आदि…