क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक साझेदारी एक मुक्त व्यापार समझौता है| इसमें एशिया प्रशांत क्षेत्र के16 देश शामिल है| इस की औपचारिक शुरुआत नवंबर 2012 में कंबोडिया में आसियान शिखर सम्मेलन में की गई थी| इसका उद्देश्य व्यापार और निवेश को बढ़ावा देने के लिए सदस्य देशों के बीच व्यापार नियमों को उदार एवं  सरल बनाना है| भारत वार्ता को बढ़ाना चाहता है परंतु भारत का पक्ष है कि लाभ को समान रुप से साझा करने के…

समान नागरिक संहिता का मुद्दा

समान नागरिक संहिता

समान नागरिक संहिता का मुद्दा हालिया में काफी चर्चा में रहा है| विश्व के अधिकांश विकसित देशों में समान नागरिक संहिता का पालन किया जाता है| हम इस पोस्ट में इसी के बारे में चर्चा करेंगे| हम यहाँ विस्तारपूर्वक चर्चा करेंगे की यूनिफार्म सिविल कोड या समान नागरिक संहिता क्या है? इसके लागू न हो पाने के पीछे क्या कारण है? इसके लागू किये जाने से समाज में क्या सकारात्मक परिवर्तन आ सकते है| आइये चर्चा…

नागरिकों के मूल कर्तव्य

नागरिकों के मूल कर्तव्य

मौलिक कर्तव्य पूर्व सोवियत संघ के संविधान से ग्रहण किया गया है जिसे भारतीय संरचना प्रदान करते हुए संविधान में अधिग्रहित किया गया है| भारत के मूल संविधान में मौलिक कर्तव्य की कोई चर्चा नहीं मिलती है| इसे 1976 में 42वें संविधान संशोधन द्वारा संविधान में भाग 4 क जोड़ कर स्थान दिया गया| यह स्वर्ण सिंह समिति की सिफारिशों के आधार पर हुआ था| अनुच्छेद 51 A में 10 मौलिक कर्तव्य जोड़े गए| 86…

शांगरी-ला संवाद: अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत के बढ़ते कद का गवाह

शांगरी-ला संवाद या शांगरी-ला वार्ता (Shangri-la dialogue)

शांगरी-ला संवाद या शांगरी-ला वार्ता (Shangri-la dialogue) इंडो-पैसिफिक क्षेत्र के और खासकर एशिया क्षेत्र के लिहाज से काफी अहम है| इस वार्ता से जो बातें निकल कर आती है, उसका इस क्षेत्र की विदेश नीति में सुरक्षा और रक्षा के लिहाज़ से वर्ष 2002 के बाद से काफी महत्व रहा है| हम इस पोस्ट में इनके बारे में विस्तार पूर्वक बात करेंगें| हम यह देखेंगें की शांगरी-ला संवाद क्या है? यह वार्ता कब से जारी है? इसे…

स्तन कैंसर

स्तन या ब्रैस्ट में होने वाले कैंसर को स्तन कैंसर कहा जाता है| इसे एक खतरनाक रोग कहा जा सकता है क्योंकि समय पर इलाज न मिलने पर इससे उत्पन्न जोखिम बढ़ती जाती है जिससे रोगी की मृत्यु हो सकती है. आकड़े के अनुसार प्रत्येक आठ में एक महिला स्तन कैंसर की गिरफ्त में है. जानकारी के आभाव एवं छुपाने की प्रवृत्ति के कारण यह बीमारी खूब फल-फुल रही है| डॉक्टर का कहना है की…